पूरी दुनिया में कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाने को लेकर कवायद जारी है। ऐसे में कोरोना वायरस से जूझ रहे UAE को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है। दरअसल UAE ने सोमवार को कोरोना वायरस वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल को मंजूरी दे दी है। यह फैसला कोरोना वैक्सीन के ह्यूमन ट्रायल के शुरू होने के 6 सप्ताह बाद किया गया है। UAE के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने घोषणा की है कि कोरोना वैक्‍सीन इंसानों पर ट्रायल में सफल रही है और अब इसे कोरोना से लड़ने वाले सभी फ्रंट लाइन मेडिकल कर्मचारियों को दिया जायेगा।

Immediately Receive Daily CG News Updates
UAE में में इस वैक्सीन के तीसरे चरण का परीक्षण जुलाई में शुरू हुआ है और अभी इस वैक्सीन का तीसरा ट्रायल चल ही रहा है। इस वैक्‍सीन को यूएई की G42 हेल्‍थकेयर और चीन की दवा कंपनी Sinopharm CNBG ने मिलकर बनाया है। इस वैक्सीन को इस्तेमाल से पहले 31,000 वालंटियर्स पर इसका परीक्षण किया गया था। परीक्षण करने के बाद सभी वॉलेंटियर्स को 42 दिन तक निगरानी में रखा गया था।

बताया जा रहा है कि इस वैक्सीन को हल्के साइड इफेक्ट्स हुए हैं, मगर कोई बड़ा और गंभीर साइड इफेक्ट देखने को नहीं मिला है। इस वैक्सीन के ट्रायल की प्रक्रिया में पुराने रोगों से पीड़ित एक हजार से अधिक लोगों को शामिल किया गया, जिनमें कोई बड़ी परेशानी देखने को नहीं मिली। UAE के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री अब्‍दुल रहमान बिन मोहम्‍मद ने कहा कि, अच्छी तरह से जांच करने के बाद इस वैक्‍सीन को पूरी तरह से नियमों और कानूनों के आधार पर मंजूरी दी गई है। उन्‍होंने कहा, ट्रायल में वैक्‍सीन को सुरक्षित और प्रभावी पाया गया है। इस वैक्‍सीन ने सही रोग प्रतिरोधक क्षमता भी पैदा की।

Get Daily City News Updates
बता दें की UAE में बाकि अरब देशों के मुकाबले कोरोना के मामले बहुत ही कम हैं, लेकिन अगस्त से अब UAE में कोरोना के मामले बढ़ने लगे हैं। शनिवार को यहां कोरोना वायरस के 1007 नए मामले सामने आए। जब से महामारी की शुरुआत हुई, तब से यह अब तक का सबसे अधिक आंकड़ा है। सोमवार को 777 नए मामले आए।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here