राज्यसभा ने हवाई जहाज संशोधन बिल 2020 (The Aircraft (Amendment) Bill, 2020) को मंजूरी दे दी है। यह बिल साल 1934 के कानून की जगह लेगा। अब हवाई उड़ान के दौरान लापरवाही बरतने वाले हवाई जहाज पर एक करोड़ रुपये जुर्माना लगाया जाएगा। इससे पहले 1934 के कानून के अनुसार 10 लाख रुपये जुर्माना लिया जाता था। बिल के संसोधन के बाद से अब हवाई उड़ान के दौरान यात्रियों की सुरक्षा को खतरे में डालने पर वाहक से 1 करोड़ रुपए का जुर्माना लगेगा। यह जुर्माना सभी क्षेत्रों के हवाई उड़ान पर लागू होगा।
Immediately Receive Daily CG News Updates

यह संशोधन आने से यह इंटरनेशनल सिविल एविएशन ऑर्गेनाइजेशन (आईसीएओ) के प्रावधानों को भी पूरा करने का काम करेगा। इससे देश की हवाई उड़ानों की सेफ्टी और सिक्योरिटी को बढ़ाने में मदद मिलेगी। इसके साथ ही देश के सिविल एविएशन सेक्टर की तीन रेग्यूलेटरी बॉडी डायरेक्ट्रेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन, ब्यूरो ऑफ सिविल एविएशन सिक्योरिटी एंड एयरक्राफ्ट एक्सीडंट इन्वेस्टिगेशन ब्यूरो को ज्यादा प्रभावशाली बनाने में मदद करेगा।

Get Daily City News Updates
पिछले हफ्ते DGCA ने जारी किया नया निर्देश- DGCA ने अपने नए निर्देश में कहा, “शेड्यूल फ्लाइट्स में उड़ान भरते और उतरते समय बोनाफाइड यात्री (फ्लाइट में रहते समय) विमान के अंदर से वीडियो फोटोग्राफी कर सकते हैं। हालाँकि रेकॉर्डिंग के लिए भी आप ऐसे उपकरण का इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं जिससे की हवाई जहाज को खतरा हो। हवाई जहाज में क्रू मेंबर्स की बात न मानने पर भी कड़ी कार्यवाही की जाएगी।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here