Pan Card आज-कल हर व्यक्ति के लिए बनाना जरूरी हो गया है। Pan Card का इस्तेमाल सिर्फ वित्तीय लेन-देन के लिए ही जरूरी दस्तावेज नहीं है बल्कि Pan Card के अंदर आपकी कई अन्य महत्वपूर्ण जानकारियां भी मौजूद होती हैं। इसमें छुपी जानकारी Income Tax विभाग के लिए जरूरी होती है। इसलिए आयकर विभाग हर व्यक्ति को Pan कार्ड जारी करता है।

आज हम आपको बताने जा रहें है कि आपके Pan Card में कौन-कौन सी जानकारी छुपी हुई है। आपके Pan Card पर आपका नाम और जन्म तिथि तो लिखा ही होता है। जबकि आपके Pan Card के नंबर में आपका सरनेम भी छुपा होता है। वहीं Pan Card का पांचवां अक्षर आपके सरनेम के बारे में बताता है।

साथ ही ये भी बता दें कि Income Tax विभाग Pan Card धारक के सरनेम को ही अपने डाटा में सुरक्षित रखता है। इसलिए अकाउंट नंबर में भी उसकी जानकारी होती है। वहीं आपके Pan Card से आपके क्रेडिट कार्ड की भी जानकारी जुड़ी रहती है। आपका Pan कार्ड आपके टैक्स पेमेंट,क्रेडिट कार्ड और अन्य पैसे से होने वाली लेन-देन वाले कार्ड से भी जुड़ा रहता है। आपके pan कार्ड के जरिए income tax विभाग आपकी सारे पैसे पर नजर रखती है।

आपके Pan के शुरुआती तीन अक्षर अंग्रेजी के लेटर होते हैं। यह AAA से लेकर ZZZ तक कुछ भी हो सकता है। ये अक्षर आपके pan card बनाने के वक्त ही तय होता है। पैन कार्ड नंबर का चौथा डिजिट भी अंग्रेजी का ही एक लेटर होता है। ये लेटर Pan कार्डधारक का स्टेटस बताता है।Pan के चौथे डिजिट के बारे में आप इस तरह विस्तार से जान सकते हैं:
P- एकल व्यक्ति, F- फर्म, C- कंपनी, A- AOP (एसोसिएशन ऑफ पर्सन), T- ट्रस्ट, H- HUF (हिन्दू अनडिवाइडेड फैमिली), B- BOI (बॉडी ऑफ इंडिविजुअल), L- लोकल,
J- आर्टिफिशियल जुडिशियल पर्सन, G- गवर्मेंट के लिए होता है । साथ ही आपके pan में 4 नंबर होते हैं। ये नंबर 0001 से लेकर 9999 तक कुछ भी हो सकते है। इसके बाद Pan का आखिरी डिजिट एक अल्फाबेट चेक डिजिट होता है, जो कोई भी लेटर हो सकता है।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here