बैंक में एकाउंट होना बहुत ही जरुरी होता है, कई बार बहुत से लोग एक से अधिक अकाउंट भी रखते हैं लेकिन बैंक में एक से अधिक अकाउंट खुलवाने के कई नुकसान हैं और इस बात के बारे में बहुत ही कम लोग जानते हैं। आपको बता दें कि बैंक खाता रखने के लिए मिनिमम बैलेंस मेनटेन करना होता है। साथ ही, ऐसा नहीं करने पर बैंक आपसे इसके लिए भारी चार्ज भी वसूलता है। लोग बिना जरूरत के कई सारे बैंक अकाउंट खुलवा लेते हैं और फिर बाद में उसको मेंटेन नहीं कर पाते हैं।

नौकरी करने वाले लोगों के पास आज के समय में एक से ज्यादा अकाउंट ही होते हैं। एक उनका सैलरी अकाउंट होत है और दूसरा उनका पर्सनल सेविंग अकाउंट होता है। जो आपके लिए नुकसानदेह साबित हो सकता है।

आपको बता दें कि सेविंग अकाउंट में बैंक की ओर से मि‍नि‍मम बैलेंस की लिमिट होती है। अगर आप उसमें उतना बैलेंस नहीं रखेंगे तो आपको पैनाल्टी देनी होती है और सभी बैंकों में मिनिमम बैलेंस की सीमा अलग-अलग होती है। कई बैंकों में ये सीमा 10,000 रुपए होती है। ऐसे में अगर आप दो या उससे ज्यादा अकाउंट रखेंगे तो आपको पैनल्टी की टेंशन बनी रहेगी।

इसके साथ ही अगर आपके पास कई सारे अकाउंट हैं तो आपको सालाना मेंटनेंस फीस और सर्विस चार्ज देने होते हैं। वहीं क्रेडिट औऱ डेबिट कार्ड के भी आपको पैसे देने होते हैं, जिससे इसमें भी आपको नुकसान उठाना पड़ता है, क्योंकि आप जितने ज्यादा कार्ड लेंगे आपको उतने ज्यादा पैसे देने होंगे।

एक्सपर्ट्स बताते हैं कि अगर आप कोई बैंक अकाउंट बंद करते हैं तो उससे जुड़े सभी जरूरी डाक्यूमेंट्स को आपको डी-लिंक कराना होगा। क्योंकि बैंक खाते से निवेश, लोन, ट्रेडिंग, क्रेडिट कार्ड पेमेंट और बीमे से जुड़े पेमेंट लिंक होते है।

आइए आपको बताते हैं कि कैसे आप अपने अकाउंट को बंद करा सकते हैं।

खाता बंद करने के लिए अकाउंट क्लोजर फॉर्म भरें-

खाता बंद करते वक्त आपको डी-लिंकिंग खाता फॉर्म भरना पड़ सकता है. बैंक की शाखा में अकाउंट क्लोजर फॉर्म उपलब्ध होता है.

>> आपको इस फॉर्म में खाता बंद करने की वजह बताना होगा। अगर आपका खाता ज्वाइंट अकाउंट है तो फॉर्म पर सभी खाताधारकों का हस्ताक्षर जरूरी है।

>> आपको एक दूसरा फॉर्म भी भरना होगा। इसमें आपको उस खाते की जानकारी देनी होगी, जिसमें आप बंद होने वाले अकाउंट में बचा पैसा ट्रांसफर कराना चाहते हैं।

>> खाताबंद कराने के लिए आपको बैंक की शाखा में खुद जाना पड़ेगा।

खता बंद करने के लिए कितना लगेगा चार्ज-

खता खुलने के 14 दिन के अंदर बंद करवाने पर कोई चार्ज नहीं देना होता है, 14 दिन बाद से लेकर एक साल पूरा होने से पहले उसे बंद कराते हैं तो आपको खाता क्लोजर चार्ज देना पड़ सकता है. आम तौर पर एक साल से ज्यादा पुराने खाते को बंद कराने पर क्लोजर चार्ज नहीं लगता है।

खाता बंद करवाने के लिए लगने वाले डॉक्यूमेंट –

इस्तेमाल नहीं की गई चेकबुक और डेबिट कार्ड बैंक क्लोजर फॉर्म के साथ जमा करना होगा।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here