नाग’रिक’ता संशो’धन का’नू’न (CAA) और NRC के खि’ला’फ पूरे देश में वि’रो’ध जारी है। वहीं वि’रो’ध में बिहार की बात की जाए तो लगातार प’क्ष वि’प’क्ष में प’लट’वा’र देखने को मिल रहा है। इसी बीच सोमवार (13 जनवरी) को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा नाग’रिक’ता का’नू’न को लेकर ब’ह’स होनी चाहिए और बिहार में एनआ’र’सी लागू होने का कोई स’वा’ल ही पै’दा न’हीं होता है। जबकि ना’गरि’कता का’नू’न के बी’ल का मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने संसद में समर्थन भी किया था।

Patna: Bihar Chief Minister Nitish Kumar at Bihar Assembly, in Patna on July 12, 2019. (Photo: IANS)

वहीं नीतीश कुमर ने विधानसभा में कहा कि ‘बिहार में एन’आ’रसी का कोई सवा’ल ही नहीं , यह असम के संद’र्भ में ही च’र्चा में था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस पर सफाई दी है।’

साथ ही आपको बता दें कि बया’नबा’जी में आगये रहने वाले जनता दल यूनाइटेड के नेता प्रशांत किशोर ने रविवार को ट्वीट किया था कि नीतीश कुमार न ना’ग’रि’क क़ा’नू’न और न एनपी’आ’र-ए’न’आ’रसी लागू करेंगे। हालांकि बाद में नीतीश कुमार ने सीए’ए के मु’द्दे पर कहा कि इससे राज्य सरकारों का कोई ले’ना’दे’ना नहीं है जो भी करना है संसद को करना है और इस पर जो भी बोलना है 19 जनवरी के बाद बोलूंगा। जबकि प्रशांत किशोर के इस ट्वीट से सतारूढ़ एनडीए के घ’ट’क दलों में ख’लबली’ म’ची है।

दरअसल मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पहले भी मिडिया कर्मी के स’वा’लों के ज’वा’ब में ये साफ कहा था की ‘काहे का एनआरसी? बिलकुल लागू नहीं होगा।’ सोमवार को फिर एक बार नीतीश कुमार ने बिहार की जनता के हित में कहा कि बिहार में NRC लागू नहीं देंगे !

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here