दुनिया से जो मर के चला गया वो कभी वापस नहीं आ सकता है। इस सच को हम कभी झुठला नहीं सकते है। लेकिन आज हम आपको 500 साल पहले मरी एक लड़की की एक ऐसी खबर लाए हैं। जिसे सुनते ही आप दंग रह जाएंगे। अब हम आपको बता दें कि साल 1999 में वैज्ञानिकों को अर्जेटीना के एक ज्वालामुखी के ढेर से 15 वर्षीय एक लड़की का शव मिला था। वैज्ञानिकों ने उस शव को देखते ही दावा किया कि वो लड़की उस ढेर में 500 सालों से दफन थी।

गौरतलब है कि शव को देख वैज्ञानिकों द्वारा लगाया गया अनुमान की ये लड़की का शव 500 साल से दफ़न हुआ है ये बिल्कुल सही था। जैसे ही वैज्ञानिकों ने लड़की के शव को बाहर निकला तो उसे देखकर ऐसा लग रहा था कि इसे कुछ दिन पहले ही दफ़न किया गया हो। उसकी बॉडी पूरी तरह गली भी नहीं थी। वैसे तो 500 साल पुराने शव की हड्डियों का भी पता नहीं चल पता है। वहीं इस अदभुत लड़की के शरीर में 500 साल बाद भी खून मौजूद था।

वहीं जब वैज्ञानिकों ने लड़की के शरीर की जांच शुरू की तो वो लड़की के शरीर में खून देख कर दंग रह गए। जब वैज्ञानिकों ने लड़की के शरीर में पाए गए खून की जाँच की तो पता चला कि खून में टीबी के बैक्टीरिया हैं। इसके बाद इस बात की जांच शुरू की गई कि आखिर 500 साल बाद भी शरीर में टीबी के बैक्टीरिया कैसे जिंदा रह सकते हैं।

वहीं वैज्ञानिकों का कहना है कि इससे पहले किसी भी ममी में इस तरह के बैक्टीरिया नहीं पाए गए थे। उस लड़की की बॉडी सालों बाद भी इतनी अच्छी स्थिति में थी कि उसके बालों में जूएं तक मौजूद थीं। यह ममी कई राज खोल सकती है। अभी भी डॉक्टर्स लड़की के शरीर में पाए गए खून की जाँच में जुटे हैं। उनका मानना है कि लड़की के खून से कई बीमारियों का इलाज ढूंढने में सफलता हासिल हो सके।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here