लेबनान सेना कमान ने कल शुक्रवार एक बड़ा बयान देते हुए कहा हुए कहा कि बेरुत बंदरगाह में 4 अगस्त को हुए धामके के बाद से कई मित्र भाई देशों ने हमारी सहायता की है और अब तक कई देश जुटे हुए भी हैं. लेबनान को भोजन और चिकित्सा सेवाओं की हर मदद दी जा रही है. ताकि वहां दुखों के सैलाब को कम किया जा सके.

लेबनान ब्लास्ट

बता दे कि अब तक लेबनान को 42 देशों से मदद मिल चुकी है और लगभग 192 aid विमान और 5 जहाजों से सेना को कार्गो दिया गया. बाद में वहां के दूतावासों ने संघों के अनुसार चीज़े बाटना शुरू की.

गौरतलब है कि इस महीने की 4 अगस्त को लेबनान के बेरुत में बड़े अमोनियम धमाके हुए थे. जिसके बाद शहर का नक्षा ही बदल गया. लगभग 220 लोग म’रे और 5 हज़ार से अधिक अब तक प्रभावित हैं व बुरी तरह ज़/ख्मी हैं. लेबनान हादसे के बाद सबसे पहले कुवैत देश ने मदद की हाथ बढ़ायी. कुवैत सरकार ने अपनी सेना के ज़रिये लेबनान में रिलीफ aid प्लेन भेजे थे. जिसके बाद वहां की सरकार ने राहत की सांस ली.

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here