सऊदी अरब के पाक शहर मक्का में हज के दौरान बिना अनुमति के घुसने और हज यात्रा में शरीक होने की कोशिश करने वाले 2,050 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। दरअसल सऊदी अरब में इस बार हज यात्रा के लिए कई सारे नियम और प्रतिबन्ध बनाये गए हैं। उनमें से एक नियम यह भी है की बिना अनुमति पाक शहर मक्का और पाक जगहों में कोई प्रवेश नहीं कर सकता है, इसी नियम के उलंघन पर लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

दरअसल इस बार हज के दौरान बिना परमिट के पाक शहर मक्का में कोई प्रवेश नहीं कर सकता है। अवैध रूप से घुसने वालों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा और उन पर कड़ी कार्यवाही करते हुए जुर्माना लगाया जायेगा । हज और उमरा मंत्रालय के अधिकारी ने इसकी जानकारी दी है। अधिकारियों ने कहा कि किसी ने भी इस साल के हज पर कोरोनोवायरस प्रतिबंध का उल्लंघन करते हुए पकड़े जाने पर भारी जुर्माना लगाया जाएगा।

हज सुरक्षा बलों के प्रवक्ता ने बताया की कोरोनोवायरस एहतियाती उपायों के उल्लंघन में हज करने के उनके नाकाम प्रयास के लिए उल्लंघनकर्ताओं के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की गई है। प्रवक्ता ने कहा कि सुरक्षा बलों ने नियमों को लागू करने और हज के वार्षिक यात्रा के पहले दिन से ही उल्लंघनकर्ताओं को पकड़ने के लिए पाक स्थलों और उसके आसपास कड़ी सुरक्षा घेरा बंद कर दिया था।

आपको बता दें की इस साल के हज के दौरान बिना परमिट के Mina, Muzdalifah and Arafat पवित्र स्थलों में प्रवेश करने पर SR10,000 ($ 2,666) का जुर्माना लगाया जायेगा। अगर अ’परा’ध को दोहराया जाता है, तो जु’र्माना दोगुना हो जाएगा, यह कदम इस साल हज के दौरान को’रोनावा’यरस के प्रसार को रोकने के लिए बनाये गए नियमों और प्रो’टोकॉल का हिस्सा है।

गौरतलब है की सऊदी ने इस वर्ष केवल 10,000 घरेलू तीर्थयात्रियों को हज करने की अनुमति देने का फैसला किया, जिनमें से 70 प्रतिशत प्रवासी होंगे और शेष 30 प्रतिशत सऊदी नागरिक होंगे। केवल उन्हीं प्रवासियों को हज की अनुमति होगी जो देश के अंदर हैं । पिछले साल, लगभग 2.5 मिलियन विदेशी और घरेलू तीर्थयात्रियों ने हज किया था।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here